27.10.2013 ►Ladnun ►Anuvrata Lekhak Award Given to Lalit Garg

Posted: 28.10.2013
Updated on: 21.07.2015

ShortNews in English

Ladnun: 27.10.2013

Anuvrata Lekhak Award Given to Lalit Garg. Award is given in Memory of Hukam Chand Sethia, Sri Dungargarh and Jalgaon.

News in Hindi

ललित गर्ग को अणुव्रत लेखक पुरस्कार प्रदान
लाडनूं 26 अक्तूबर 2013 जैन तेरापंथ न्यूज समृद्धि नाहर

अणुव्रत महासमिति की ओर से वर्ष 2012 का उत्कृष्ट, नैतिक एवं आदर्श लेखन का ‘अणुव्रत लेखक पुरस्कार’ शनिवार को सूर्यनगर एजुकेशनल सोसायटी द्वारा संचालित विद्या भारती स्कूल की विकास एवं मैनेजमेंट कमेटी के चेयरमैन ललित गर्ग को प्रदान किया जाएगा। गर्ग को आचार्य महाश्रमण के सान्निध्य में जैन विश्व भारती में आयोजित समारोह में यह पुरस्कार दिया जाएगा।
अणुव्रत महासमिति के अध्यक्ष बाबूलाल गोलछा ने बताया कि पुरस्कार का चयन तीन सदस्यीय समिति के सुझावों पर किया गया। पुरस्कार के रूप में 51 हजार रुपये नकद, प्रशस्ति पत्र एवं शॉल प्रदान किया जाएगा। गोलछा ने बताया कि अणुव्रत पाक्षिक का लगभग डेढ़ दशक तक संपादन कर चुके गर्ग अणुव्रत लेखक मंच की स्थापना के समय से सक्रिय रूप से जुड़े रहे हैं। गर्ग को पहला आचार्य महाप्रज्ञ प्रतिभा पुरस्कार भी मिल चुका है। इसके तहत एक लाख रुपए व प्रशस्ति पत्र दिया गया। राजस्थान के पत्रकार एवं स्वतंत्रता सेनानी रामस्वरूप गर्ग के कनिष्ठ पुत्र गर्ग वर्तमान में दिल्ली से प्रकाशित मासिक पत्रिका ‘समृद्ध सुखी परिवार’ के संपादक हैं। हुकुमचंद सेठिया, जलगांव ((महाराष्ट्र)) की पुण्य स्मृति में प्रतिवर्ष दिया जाने वाला

अणुव्रत लेखक पुरस्कार अब तक धरम चंद चोपड़ा, डॉ. निजामुद्दीन, राजेन्द्र अवस्थी, राजेन्द्र शंकर भट्ट, डॉ. मूलचंद सेठिया, डॉ. केके रत्तू, डॉ. छगनलाल शास्त्री, विश्वनाथ सचदेव, डॉ. नरेंद्र शर्मा कुसुम, डॉ. आनंद प्रकाश त्रिपाठी, श्रीमती सुषमा जैन एवं प्रो. उदय भानू हंस को दिया जा चुका है।

राष्ट्रीय अणुव्रत लेखक सम्मेलन आज से
जैन विश्व भारती में अणुव्रत लेखक मंच के तत्वावधान में 26 अक्टूबर से दो दिवसीय राष्ट्रीय अणुव्रत लेखक सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। मंच के राष्ट्रीय सदस्य डॉ आनंद प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि आचार्य महाश्रमण के सान्निध्य में अणुव्रत महासमिति नई दिल्ली द्वारा अणुव्रत लेखक मंच के तत्वावधान में आयो'य अणुव्रत लेखक सम्मेलन में देशभर के प्रतिष्ठित सृजन धर्मी लेखकों, रचनाकारों को आमंत्रित किया गया है। सम्मेलन में पांच सत्रों के दौरान चर्चा की जाएगी। अणुव्रत आंदोलन के मुखपत्र अणुव्रत पत्रिका के वृहद लोकतंत्र और अणुव्रत विशेषांक का विमोचन किया जाएगा। मंच सदस्य डॉ वीरेंद्र भाटी मंगल ने बताया कि सम्मेलन का विषय नैतिक मानदंड रखा है।

Share this page on:

Source/Info

Jain Terapanth News
JTN

ShortNews in English:
Sushil Bafana