30.08.2012 ►Siriyari ►210th Charmotsav of Acharya Bhikshu Celebrated with Devotion

Posted: 30.08.2012
Updated on: 02.07.2015

ShortNews in English

Siriyari: 30.08.2012

210th Mahaprayan day of Acharya Bhikshu was celebrated with devotion at Siriyari in presence of Muni Manilal and Muni Kushal Kumar. Uninterrupted Jap of Om Bhikshu was held. Muni Kushal Kumar said that Acharya Bhikshu was revolutionary in field of Spiritual.

News in Hindi

आचार्य भिक्षु का 210वां निर्वाण दिवस समारोह श्रद्धापूर्वक मनाया
Jain Terapnth News

आचार्य भिक्षु का 210वां निर्वाण दिवस समारोह श्रद्धापूर्वक मनाया
आचार्य भिक्षु धर्म क्रांति के संवाहक थे: मुनि कुशल कुमार
आयोजन
अखंड जाप
आचार्य भिक्षु के 210वां निर्वाण दिवस समारोह के अवसर पर संस्थान स्थित आचार्य भिक्षु समाधि पर बुधवार को मुनि मणिलाल व मुनि कुशल कुमार के मंगलाचरण से ओम भिक्षु जय भिक्षु का जाप हुआ जो दिनभर चलता रहा।
प्रभात फेरी निकाली
आचार्य भिक्षु के 210वां निर्वाण दिवस समारोह बुधवार को समाधि संस्थान से प्रभात फेरी निकाली जो सिरियारी के विभिन्न मार्गों से होते हुए समाधि स्थल आकर विसर्जित हुई। इस अवसर पर अध्यक्ष सुरेंद्र सुराणा, माणकचंद धोका, किरणराज व विजयराज बाफना सहित कई श्रावक-श्राविकाएं उपस्थित थे।
राणावास
Jain Terapnth News

तेरापंथ धर्म संघ के उप्रर्वतक आचार्य श्री भिक्षु का 210वां निर्वाण दिवस समारोह मुनि मणिलाल व मुनि कुशल कुमार के सानिध्य में मनाया गया। इस अवसर पर उपस्थित श्रावक-श्राविकाओं ने कहा कि आचार्य भिक्षु धर्म क्रांति के संवाहक थे।

उन्होंने तेरापंथ धर्म संघ को जो व्यवस्थाएं व मर्यादाएं दी वो आज भी उपयोगी है। उन्होंने कहा कि आचार्यश्री के उपदेशों में इतनी ताकत है कि व्यक्ति को अपने आप ही खींच लेते है। संस्थान उपाध्यक्ष मुकनचंद मेहता ने कहा कि जो अप्रतिम होता है वह अहिंसक होता है। आचार्य भिक्षु का जीवन अहिंसा प्रधान था वह एक महान साधक थे। इस दौरान दशरथमल भंडारी ने कहा कि आचार्य भिक्षु की स्थली सिरियारी है यह जन-जन की आस्था का केंद्र है।

समारोह में संस्थान अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार सुराणा, कोषाध्यक्ष माणकचंद धोका, मंत्री किरणराज गादिया, विजयराज बाफना, भूपेंद्र चंडालिया, चंदनमल ओस्तवाल, भरत गादिया, पन्नालाल, पुंगलिया व कमलचंद सहित कई श्रावक-श्राविकाएं मौजूद थे।

राणावास. आचार्य भिक्षु के निर्वाण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित श्राविकाएं व प्रवचन देते मुनि।

Share this page on: