25.03.2018 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Published: 25.03.2018
Updated: 26.03.2018

Update

अहिंसा परमो धर्म की जय। सही में पैसा उन्ही के पास टिकता है जो त्याग की भावना रखते है। #Share Please

News in Hindi

शांतिमय वातावरण के साथ संयम कीर्ति स्तंभ का हुआ लोकार्पण

*एक दिन पहले अज्ञात लोगों ने कीर्ति स्तंभ पर फेंका था काला कलर*

हिंगोली (महा.) आचार्य श्री विद्यासागर जी के 50वे दीक्षा दिवस के उपलक्ष में अपनी श्रद्धा को प्रकट करते हुए हिंगोली जैन समाज ने संयम कीर्ति स्तंभ का निर्माण करवाया था, इस कीर्ति स्तंभ के लोकार्पण के एक दिन पहले माहौल खराब करने के लिए कीर्ति स्तंभ पर काला कलर फेका गया, लेकिन अहिंसा वादी जैन समाज ने माहौल नही बिगाड़ा, बल्कि तय समय पर ही इस संयम कीर्ति स्तंभ का लोकार्पण किया गया, इस लोकार्पण में 108 अक्षय सागर जी महाराज, नेमि सागर जी महाराज, समता भूषण जी महाराज के सानिध्य में लोकार्पण हुआ, इस कार्यक्रम में भक्तो का सैलाब उमड़ा

Video

Live Darshan @ Acharya Shri Vidyasagar Ji.. click shared by miss arjita jain -loads thnk her:)

बैसे तो इस युग के महावीर अचार्य भगवन 108 विद्यासागर जी के दर्शनार्थ अक्सर नेता मंत्री अधिकारी पत्रकार सभी जाते है हम भी जाते है लेकिन वो बहुत पुण्यशाली होते है जिन्हें गुरुदेव की मुस्कान भरा आशीष मिलता है
जैनाचार्य या जैन मुनियो को राजनीति या किसी भी पार्टी विशेष से कोई लेना देना नही उनके लिए सभी समान है हां उनका आशीर्वाद उसी को मिल पाता है जिसमे उन्हें भारत का उज्ज्वल भविष्य पशुधन की रक्षा भारत का स्वाभिमान नज़र आता है हालांकि कई ऐंसे भी होते है जो कुर्सी मिलते ही बदल जाते है खैर छोड़िये आज हमारी नज़र एक तस्वीर पर पड़ी चलिए उसी पर कुछ लिखते है-

सुरेंद्र जैन

चेहरे पर मुस्कान बिखेरे,देखो इस युग के भगवान।
हाथ जोड़ जो किये हैं दर्शन,उनका देखो पुण्य महान।।
आशीष जिन्हें मिलता है ऐंसा,वो खुदक़िस्मत होते इंसान।
चेहरे पर मुस्कान बिखेरे,देखो इस युग के भगवान।।

कुछ न कुछ तो दिखा ही होगा,

Video

राम राम राम बोलो! जय जय राम बोलो! बोलो बोलो जय श्री राम.. #Ram #आचार्यविद्यासागर

#RamKirtan ऐसा कीर्तन आपने आजतक नहीं सुना ओर देखा होगा.. आचार्य श्री विद्यासागर जी के मुनि-रत्नो में से एक अनूठे रत्न क्षुल्लक ध्यानसागर जी, जो जन्म से जैन नहीं थे, MBBA कर रहे थे, तब वैराग्य हुआ ओर संत बनने चल पड़े.. उनके मुख से संगीत के साथ जितेंद्र भगवान राम का कीर्तन:) must listen and share...

आचार्य श्री विद्यासागर जी के शिष्य क्षुल्लक श्री ध्यानसागर जी द्वारा भोपाल में राम कथा का विराट आयोजन... जैन क्या हिंदू क्या सब मिलकर भगवान राम, भगवान हनुमान, सती सीता आदि के जीवन चरित्र को सुन रहे हैं:)) -महापोर आलोक शर्मा

••••••••• www.jinvaani.org •••••••••
••••••• Jainism' e-Storehouse •••••••

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

राम राम राम बोलो! जय जय राम बोलो! बोलो बोलो जय श्री राम.. #Ram #आचार्यविद्यासागर

#RamKirtan ऐसा कीर्तन आपने आजतक नहीं सुना ओर देखा होगा.. आचार्य श्री विद्यासागर जी के मुनि-रत्नो में से एक अनूठे रत्न क्षुल्लक ध्यानसागर जी, जो जन्म से जैन नहीं थे, MBBA कर रहे थे, तब वैराग्य हुआ ओर संत बनने चल पड़े.. उनके मुख से संगीत के साथ जितेंद्र भगवान राम का कीर्तन 🙂 must listen and share...

आचार्य श्री विद्यासागर जी के शिष्य क्षुल्लक श्री ध्यानसागर जी द्वारा भोपाल में राम कथा का विराट आयोजन... जैन क्या हिंदू क्या सब मिलकर भगवान राम, भगवान हनुमान, सती सीता आदि के जीवन चरित्र को सुन रहे हैं:)) -महापोर आलोक शर्मा

हिंगोली में असामाजिक तत्वों द्वारा संयम कीर्ति स्तंभ पर काला रंग फैंकने से सकल जैन समाज मे रोष

हिंगोली में नगर परिषद की इजाजत से आचार्य श्री विद्यासागर जी मुनिराज के आशीर्वाद से नगर के जैन समाज ने मिलकर आचार्य श्री के संयम स्वर्ण महोत्सव के उपलक्ष में 21 फिट ऊंचा संयम कीर्ति स्तंभ का निर्माण कराया और इस संयम कीर्ति स्तंभ का लोकार्पण 25 मार्च को होने वाला था लेकिन 24 मॉर्च को ही असामाजिक तत्वों द्वारा संयम कीर्ति स्तंभ पर काला रंग फेककर पूरे देश के जैन समाज की भावनाए आहत किये जाना दुखद

अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कर दी गयी है!

Sources
Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Acharya
  2. Acharya Vidya Sagar
  3. Adinatha
  4. Ahinsa
  5. Darshan
  6. Digambara
  7. Jainism
  8. JinVaani
  9. Nirgrantha
  10. Ram
  11. Sagar
  12. Tirthankara
  13. Vidya
  14. Vidyasagar
  15. आचार्य
  16. दर्शन
  17. महावीर
  18. राम
  19. सागर
Page statistics
This page has been viewed 688 times.
© 1997-2020 HereNow4U, Version 4
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

Today's Counter: