11.09.2017 ►Jeevan Vigyan Academy ►Personality Development

Published: 11.09.2017
Updated: 23.10.2017

http://www.herenow4u.net/fileadmin/v3media/pics/organisations/Jeevan_Vigyan_Academy/Jeevan_Vigyan_Logo__New_.jpg

Jeevan Vigyan Academy


News in Hindi

कार्यशाला में बताए व्यक्तित्व विकास गुरु: प्रेक्षा प्राध्यापक मुनिश्री
हांसी, 11 सितम्बर 2017

प्रेक्षाप्राध्यापक ‘षासनश्री’ मुनिश्री किषनलालजी के सान्निध्य में हरियाणा प्रान्तीय तेरापंथ युवक परिषद द्वारा ‘व्यक्तित्व विकास कार्यषाला का आयोजन किया गया।’’ कार्यषाला को संबोधित करते हुए मुनिश्री किषनलाल ने कहा कि हर व्यक्ति विकास चाहता है उसके लिए पुरुषार्थ करता है और अपने जीवन की दषा और दिषा बदलता है। विकास केवल व्यवसाय या परिवार का हो तो विकास अधूरा है। यदि जीवन का विकास नहीं है तो परिवार और व्यवसाय का विकास कोई काम का नहीं रहता। केवल धन या पैसा ही सबकुछ नहीं हो सकता। मुनिश्री ने आगे कहा कि जो व्यक्ति जैसा कर्म करता है उसे वैसा फल भोगना पड़ता है और इसका उदाहरण भी आप देख रहे हैं कि जो व्यक्ति किस प्रकार लोगों के साथ धोखा करते हैं और अंत में उसकी क्या स्थिति होती है। अपने आपको व्यक्त करना व्यक्तित्व विकास का पहला गुरु है। व्यक्तित्व की दूसरी पहचान व्यक्ति के हाव, भाव और चेहरे से होती है। व्यक्ति शान्त है तनाव ग्रस्त आवेष से भरा है। तीसरी पहचान उसकी भाषा से होती है। भाषा उसकी मृदु मधुर और शालीन है। चैथी पहचान वेषभूषा से होती है। उसका पहनावा कैसा है? पांचवी पहचान भोजन और भवन से होती है। छठी पहचान उसके भाव कैसे हैं? मैत्री, करुणा, दया के भावों से पहचाना जा सकता है। यह व्यक्ति श्रेष्ठ है अथवा अश्रेष्ठ है। अश्रेष्ठता प्रगट होती है हिंसा, क्रूरता और अव्यवहार से।

मुनिश्री ने आगे कहा कि श्रेष्ठ व्यक्तित्व बनाने के लिए जीवन में नैतिकता, सद्भावना और व्यसन-मुक्त जीवन शैली आवष्यक है। हरियाणा प्रान्त के युवक परिषद के सदस्यों के साथ पारिवारिक सदस्य भी विषाल संख्या में उपस्थित थे। तेयुप अध्यक्ष श्री राहुल जैन, तेयुप के पूर्व अध्यक्ष श्री रविन्द्र जैन स्वागत भाषण दिया।



भव्य भजन संध्या ‘तेरापंथ के सरताज पधारों म्हारे आज’ सम्पन्न
11 सितम्बर 2017

‘षासनश्री’ मुनिश्री किषनलालजी के सान्निध्य में रात्रि 7.30 बजे से पुरानी सिनेमा गली स्थित चैधरी श्रीपालजी के नोहरे में भव्य भजन संध्या ‘‘तेरापंथ के सरताज पधारे म्हारे’’ का कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिसमें सिरसा से समागत सुप्रसिद्ध कलाकार अमित सिंघी के अलावा सुश्री अभिलाषा बांठिया, जगदीष मित्तल ने मधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम में दिगम्बर जैन समाज के अजीत जैन, राजेष जैन, विजय जैन, प्रवीण तायल, क्षेत्रीय प्रभारी हिसार से संजय जैन, मोहनलाल बंसल, राजेष बंसल, जिंद से डाॅ. सुरेष जैन, डाॅ. अनील भारद्वाज, विनोद कम्बीरी, सतीष वर्मा, संदीप जिंदल, श्रेयांस जैन, अमित जैन, तेरापंथी सभा हांसी के दर्षन कुमार जैन, मंत्री चिराग जैन, तेयुप अध्यक्ष राहुल जैन, संयोजक सुभाष जैन, रविन्द्र जैन के अलावा तेरापंथ महिला मण्डल, कन्या मण्डल, किषोर मण्डल आदि विषेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन रविन्द्र जैन ने किया।

- राहुल जैन

English by Google Translate:

Personality Development Guru in the Workshop: Observer Professor Munitri

Addressing the workshop, Munishri Kishan Lal said that every person wants development for him and for his life, he has done a 'Personality Development Workshop' organized by the Haryana Provincial Teestrop Youth Council in the proximity of 'Munshri Kishanlalji'. Dasha and Dasha change. Development is only in the case of business or family, development is incomplete. If life is not developed then the development of family and business is not of any work. Only money or money can not be all. Munishri further said that the person who performs deeds like this has to suffer the consequences and you are also seeing an example of how the person who deceives people and what is their position in the end. Expressing yourself is the first guru of personality development. The second identity of personality is with the person's expressions, expressions and faces. The person is calm, full of stress-filled insatiable stress. The third identity is from its language. The language is its sweet and delicious. The fourth identity is from the dress. How is her outfit? Fifth identity is from food and building. How are his expressions of the sixth identity? Friendship, compassion, compassion can be recognized by the expressions. This person is superior or senior. Unrestrainedness is manifested by violence, cruelty and abusive behavior.

Munishri further said that to create the best personality, life requires ethics, goodwill and addiction-free life style. Family members of the Youth Council of Haryana Prefecture were also present in the Viral numbers. Mr. Rahul Jain, Chairman, Teyup President, Mr. Ravindra Jain, former Chairman of Tyope, gave the welcome address.



Gala Bhajan Sandhya 'Sarthaj Padhars of Terapanth Mharey Today'
11 September 2017

The program of 'Sartaj Padhare Mareh of Terapantha' was organized in the ninth of the Chaudhari Shripalji's ninth in the old cinema street, from 7.30 am to the 'Shanshan Shree' Munishri Kishanlalji. In addition to the well-known actors Amit Singhvi, Siri, Ms. Abilasha Banthia, Jagdish Mittal presented the melodious hymns. In the program Ajit Jain of Digambar Jain Samaj, Rajjal Jain, Vijay Jain, Pravin Tayal, Regional In-charge of Hisar, Sanjay Jain, Mohanlal Bansal, Rajbha Bansal, Jind Dr. Suresh Jain, Dr. Annil Bharadwaj, Vinod Kambri, Satish Verma, Sandeep Jindal, Shreyans Jain, Amit Jain, Darshan Kumar Jain of Taraporethi Sabha Hansi, Minister Chirag Jain, Teoop President Rahul Jain, Convenor Subhash Jain, Ravindra Jain besides Tarapanth Mahila Mandal, Kanya Mandal, Kishor Mandal etc. was presently very special. The program was conducted by Ravindra Jain.

- Rahul Jain

37019382421

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 01

37161802685

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 02

37019381311

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 03

37019380531

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 04

37161800645

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 05

37161800235

2017.09.11 Jeevan Vigyan Academy News 06

Sources
jeevan vigyan
Muni Kishanlal
Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Amit Jain
  2. Bhajan
  3. Darshan
  4. Digambar
  5. Guru
  6. Hansi
  7. Haryana
  8. Hisar
  9. Jeevan Vigyan
  10. Jeevan Vigyan Academy
  11. Jind
  12. Kishor
  13. Mahila Mandal
  14. Mandal
  15. Muni
  16. Muni Kishanlal
  17. Ravindra Jain
  18. Sabha
  19. Sanjay Jain
  20. Terapanth
  21. Violence
  22. भाव
  23. हरियाणा
Page statistics
This page has been viewed 227 times.
© 1997-2020 HereNow4U, Version 4
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

HN4U Deutsche Version
Today's Counter: