19.07.2015 ►Muni Ramesh Kumar ►Equanimity is a Specific Chemical Balance

Posted: 20.07.2015

ShortNews in English:

Muni Ramesh Kumar:

Equanimity is a specific chemical balance.
It is the backbone of all practice.
Only from the attainment of balance the seeker can grow further in his practice and be successful.  
Do not make just temporal efforts.

Muni Hemraj Ji said:

“Pure religion has its residence in the mind.”

The pleasant singer Sukhadān Chāraṇ offered (presented) a song.
Rajmal Jain made a speech (made his point of view exlicit).
Union Minister Mr. Mahavir Jain welcomed the saints of the Shree Shwetambar Jain residence station.
The chairman of the Terapanth assembly President Shrichnad Jain, the president of the Terapanth Youth organization Pankaj Jain and Ashok Jain were present together with hundreds of brothers and sisters.

News in Hindi

विशिष्ट रसायन है समता
मुनि रमेश कुमार
समता एक विशिष्ट रसायन है। सासाधना की रीढ है।समता की सिद्धि से ही साधक साधना में आगे बढता है व सफल होता है।
सामायिक को रुढी न बनने दें। मुनि हेमराज जी ने कहा- धर्म शुद्ध चित्त में निवास करता है।सामायिक चित्त को शुद्ध करता है।
श्री श्वेतांबर स्थानक वासी जैन संघ के मंत्री महावीर जैन ने संतो का स्वागत किया । मधुर गायक सुखदान चारण ने गीत पेश किया। राजमल जैन ने विचार व्यक्त किए।
तेरापंथ सभा के अध्यक्ष श्रीचंद जैन, अणुव्रत समिति के अध्यक्ष रतन लाल जैन, मंत्री अनिल कुमार जैन, तेरापंथ युवक परिषद के अध्यक्ष पंकज जैन अशोक जैन सहित सैकडों भाई बहनों उपस्थित थे।

TDN से श्री गोविन्द सिंह

 

Share this page on: