11.07.2013 ►Jodhpur ►Acharya Mahashraman Book Vijayi Bano was released by President Pranab Mukherjee

Published: 11.07.2013
Updated: 08.09.2015

ShortNews in English

Jodhpur: 11.07.2013

Acharya Mahashraman Book Vijayi Bano was released by President Pranab Mukherjee.  Chief Minister Sri Ashok Gehlot was also present on that occasion. Muni Jinesh Kumar requested president to visit Ladnun. He also briefed him about book.

News in Hindi

राष्ट्रपति ने किया महाश्रमण की पुस्तक 'विजयी बनो' का विमोचन
सर्किट हाउस में महाश्रमण के शिष्य ने आचार्य तुलसी जन्म शताब्दी समारोह में लाडनूं आने का निमंत्रण दिया

जोधपुर 10 जुलाई 2013 जैन तेरापंथ न्यूज

जोधपुर आईआईटी जोधपुर के प्रथम दीक्षांत समारोह में भाग लेने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बुधवार दोपहर जोधपुर आए।
एयरफोर्स स्टेशन पर राज्यपाल मारग्रेट अल्वा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केंद्रीय संस्कृति मंत्री चंद्रेश कुमारी, महापौर रामेश्वर दाधीच, संभागीय आयुक्त हेमंत गेरा, पुलिस कमिश्नर भूपेंद्र कुमार दक, कलेक्टर गौरव गोयल, सांसद बद्रीराम जाखड़ के साथ सेना व वायुसेना के अधिकारियों ने राष्ट्रपति को गुलदस्ते भेंट कर स्वागत किया। यहां से वे सर्किट हाउस पहुंचे। वहां राष्ट्रपति को आचार्य महाश्रमण के शिष्य मुनि जिनेश कुमार और मुनि परमानंद ने आचार्य महाप्रज्ञ एवं महाश्रमण द्वारा लिखित पुस्तकें भेंट की। साथ ही आगामी 13 जुलाई को लाडनूं में आयोजित होने वाले आचार्य तुलसी के जन्म शताब्दी समारोह में आने का निमंत्रण दिया। इस दौरान राष्ट्रपति ने आचार्य महाश्रमण द्वारा लिखित पुस्तक 'विजयी बनो' का विमोचन किया। बाद में मुख्यमंत्री गहलोत ने सर्किट हाउस में उपस्थित जनप्रतिनिधियों और समाजसेवियों के प्रतिनिधिमंडलों से राष्ट्रपति को परिचय करवाया।
मुनि जिनेश कुमार ने राष्ट्रपति को लाडनूं आने का निमंत्रण दिया।

Sources

ShortNews in English:
Sushil Bafana

Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Acharya
  2. Acharya Mahashraman
  3. Jodhpur
  4. Ladnun
  5. Mahashraman
  6. Muni
  7. Muni Jinesh Kumar
  8. Sushil Bafana
  9. अशोक
  10. आचार्य
  11. आचार्य तुलसी
  12. आचार्य महाप्रज्ञ
  13. आचार्य महाश्रमण
  14. राम
Page statistics
This page has been viewed 807 times.
© 1997-2021 HereNow4U, Version 4.29
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

HN4U Deutsche Version
Today's Counter: