10.03.2012 ►Chhapar ►Vihar of Muni Tarachand and Welcome of Muni Sumermal (Sudarshan) at Chhapar

Posted: 10.03.2012
Updated on: 17.01.2013

ShortNews in English

Chhapar: 10.03.2012

Muni Tarachand along with Muni Sumati Kumar, Muni Devarya Kumar and Muni Aditya Kumar did Vihar from Chhapar. Mangal Bhawana function was held in presence of Muni Sumermal (Sudarshan). 

News in Hindi

शासन गौरव मुनि श्री सुमेरमल जी सुदर्शन का छापर से विहार
विभिन्न संगठनों ने जताई मंगल भावना
छापर १० मार्च २०१२ जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो
तेरापंथ धर्मसंघ के वृद्ध संतों की सेवार्थ संचालित देशभर के एक मात्र सेवा केंद्र छापर में पिछले एक वर्ष तक चाकरी करने वाले शासन गौरव मुनि ताराचंद स्वामी व निवर्तमान सेवा केंद्र व्यवस्थापक मुनि सुमति कुमार ने अपने सहवृति संत मुनि देवार्य कुमार व मुनि आदित्य कुमार के साथ कांकरोली के लिए मंगल विहार किया।

शासनश्री मुनि श्री सुमेरमल जी सुदर्शन ने भिक्षु साधना केंद्र पर मंगल भावना जताई। बाद में तेरापंथ सभा के प्रवक्ता प्रदीप सुराणा, विमल दुधोडिय़ा, लक्ष्मीपत सुराणा, जगतसिंह चोरडिय़ा, उत्तम दुधोडिय़ा, बिजेंद्र दुधोडिय़ा, रणजीत दूगड़, सूरजमल नाहटा, आलोक नाहटा, महिला मंडल की मंजू दुधोडिय़ा, कुसुम बैद, विमला नाहटा, कंचन देवी नाहटा, संपत्त डोसी, सरोज भंसाली, शांति देवी दुधोडिय़ा, कन्या मंडल की हर्षा, यशा, प्रिया, ज्योति, जयश्री व प्रिती सुराणा सहित अनेक जैन धर्मावलंबियों ने जुलूस के साथ जैन मुनियों को रवाना किया। देवाणी गांव के आरके भंसाली शिक्षण संस्थान में कन्हैयालाल भंसाली की अध्यक्षता व रेखाराम गोदारा के मुख्य आतिथ्य में जैन मुनियों का स्वागत समारोह हुआ।

कार्यक्रम में प्रदीप सुराणा व प्रधानाचार्य धन्नाराम प्रजापत विशिष्ट अतिथि थे। कार्यक्रम में कवि गौरीशंकर शर्मा, रचना जैन, कवि धन्नाराम प्रजापत व संस्थान के प्रधानाध्यापक ओमप्रकाश ओझा ने विचार व्यक्त किए। इससे पूर्व भिक्षु साधना केंद्र में तेरापंथ सभाध्यक्ष कमलसिंह छाजेड़ की अध्यक्षता में सेवा केंद्र से विदाई लेने वाले जैन मुनियों का अभिनंदन समारोह हुआ। जिसमें मुनि तन्मय कुमार, मुनि जयंत कुमार, मुनि अनुशासन कुमार, हुलास सारड़ा, रामाकिशन मूंधड़ा, रामदेव मूंधड़ा, चंपालाल सोनी, जयचंदलाल सोनी, जयप्रकाश सोनी, चैनरूप दायमा, पालिका उपाध्यक्ष फूलवती घोटड़, नारायणदास कामड़, जयराम जांगिड, महावीर खटीक, राकेश ढेनवाल व विनोद भंसाली ने जैन मुनियों की सेवा चाकरी की सराहना की।

Share this page on: