26.12.2011 ►Terapanth News 2

Posted: 26.12.2011
Updated on: 21.07.2015

ShortNews in English:

Bheem: 26.12.2011

Give Place to Spirituality in Life: Acharya Mahashraman

News in Hindi

शरीर का मोह त्याग अध्यात्म को जीवन में स्थान दें: महाश्रमण



भीम Published on 26 Dec-201१ जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो
आचार्य महाश्रमण ने कहा कि आत्मा को निर्जीव नहीं किया जा सकता है, अनात्मा में नहीं बदला जा सकता है। सार्वभौमिक नियमों के अनुसार ही आत्मा अजर-अमर है। जो जन्मा है, उसकी मृत्यु निश्चित है। मरणधर्मा शरीर का मोह त्यागकर अध्यात्म को जीवन में स्थान दें। परमात्मा के कानून पारदर्शी हैं, वहां रिश्वतखोरी के लिए जगह नहीं है। स्वर्ण भस्म खाने वाले, आकाश को छूने वाले, अन्न को बीनकर भिक्षावृत्ति करने वाले तथा बिना कफन वाले के घर समरूपेण मृत्यु दस्तक देती है। सभी एक बार व अंतिम बार श्मशान घाट पर बिना भेदभाव के पहुंचते हैं।

आचार्य श्री रविवार को काछबली में धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मनुष्य छल, कपट से दूर रहे, अनैतिकता की धूप में सुलग कर मानव जिन योनियों में जन्म ले सकता है, जिससे जीवन दु:खदायी हो जाता है। उन्होंने कहा कि भय, मजाक, क्रोध या लोभ के वशीभूत होकर भी मानव झूठ का सहारा नहीं ले, क्योंकि प्रतिष्ठा सदैव सत्य की ही की जाती है। झूठ का कोई आधार नहीं होता है। किसी भी क्षेत्र में प्रगति का मूल मंत्र है कार्य के प्रति निष्ठा, ईमानदारी एवं समर्पण। बेईमानी से मनुष्य का उत्थान कदापि संभव नहीं है। धर्मसभा को प्रेक्षा मूथा, पूर्व डीईओ मोहन सिंह, अमरचंद पीपाड़ा आदि ने भी संबोधित किया। इस दौरान उत्तमचंद पीपाड़ा, महेंद्र कर्णावट, सवाईलाल पोखरना, ताराचंद, भंवरलाल बोठिया, भगवतसिंह आदि मौजूद थे।

काछबली पहुंची आचार्य की अहिंसा यात्रा, धर्मसभा में दिए प्रवचन



आचार्य महाश्रमण द्वार का उद्घाटन
काछबली Published on 26 Dec-201१ जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो
आचार्य महाश्रमण धवल सेना के साथ रविवार सुबह काछबली गांव पहुंचे, जहां धनराज भंवरलाल मूथा की पुण्यस्मृति में मंडावर एवं काछबली की सीमा पर नवनिर्मित आचार्य महाश्रमण द्वार का उद्घाटन आचार्य महाश्रमण के सानिध्य व सरपंच ललिता देवी, ताराचंद, रमेश मुथा व प्रकाश मूथा की मौजूदगी में हुआ। इससे पूर्व स्कूली विद्यार्थियों ने व्यसन मुक्ति एवं अणुव्रत रैली निकाली। इससे पूर्व 27 साल बाद संघ के आचार्य का गांव में मंगल प्रवेश होने से क्षेत्रवासियों ने पलक पावड़े बिछाकर स्वागत किया। - with Sanjay Mehta, Jain Loon Karan Chhajer, Seema Golchha, Jyoti Baid, Neelam Borar, Tmbt Mumbai, Manoj Ghiya, Salil Lodha, Terapanth India, Jvb Houston Samaniji, Terapanth Samayik Terapanth, Terapanth Kishor Mandal Bandra, Terapanth Yuvak Parishad Udhana, Dharmendra Bothra Terapanthidol Jain, Terapanth Centre, Terapanth Samajh Kharghar, Daulatgarh Terapanth Mitra Parishad, Terapanth Yuvak Parishad Mysore, Vyasarpadi Terapanth Samaaj Chennai, Terapanth Yuvak Parishad Jaipur, Terapanth Yuvak Parishad Guwahati, Terapanth Yuvak Parishad Vijayanagar, Terapanth Yuvak Parishad Forbesganj, Terapanth Yuvak Parishad Sirsa, Biratnagar Terapanth Yuwak Parisad, Gandhidham Terapanth Yuvak Parisadh, Terapanth Yuvak Parishad Kalanwali, Terapanth Yuvak Parishad Hubli, Terapanth Yuvak Parisad Kolkata and Terapanth Yuvak Parisad Tapra.

Share this page on:

Source/Info

Jain Terapnth News

News in English: Sushil Bafana