24.12.2011 ►Terapanth News

Posted: 24.12.2011
Updated on: 21.07.2015

ShortNews in English:

Lava Sardargarh: 24.12.2011

Vardhaman Mahotsav Will be Held at Lava Sardargarh

News in Hindi

तेरापंथ धर्मसंघ से जुड़े समस्त साधु-साध्वियों का लावासरदारगढ़ में समागम होगा,

लावासरदारगढ़ २५ दिसम्बर २०११ जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो

तेरापंथ धर्मसंघ से जुड़े समस्त साधु-साध्वियों का लावासरदारगढ़ में समागम होगा, जहां देशभर में चातुर्मास करने वाले साधु-साध्वियों का आचार्य महाश्रमण हाजरी लेंगे। इसके लिए तीन दिवसीय वर्धमान महोत्सव लावासरदारगढ़ (आमेट) में 11 जनवरी से शुरू होगा। महोत्सव की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं।

आचार्य महाश्रमण के सानिध्य में पहुंचने वाले सैकड़ों साधु-साध्वियों के आवास के लिए निर्धारित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं स्कूलों को रंगरोगन कर चमकाया जा रहा है, जहां आसपास के क्षेत्रों सहित देश के विभिन्न प्रांतों से आने वाले हजारों लोगों के लिए प्रवचन पांडाल का निर्माण भी शुरू हो चुका है। वर्धमान महोत्सव में आने वाले साधु-साध्वियों, समण-समणियों एवं मुमुक्षु बहनों व श्रद्धालुओं के लिए महावीर भवन, सामुदायिक भवन, गेस्ट हाउस सहित अन्य मकानों में आवास व्यवस्था की जाएगी। जैसे-जैसे महोत्सव की तिथि नजदीक आ रही है, वैसे वैसे कस्बे में रौनक बढ़ती जा रही है। दूसरे प्रांतों में रहने वाले प्रवासी अपने घरों को लंबे अर्से के बाद संभालने के लिए नगर में आने प्रारंभ हो गए हैं। जैन समाज के लोग अपने घरों को रंगरोगन कर संवार रहे हैं। आचार्य महाश्रमण का जुलूस के साथ जिस मार्ग से मंगल प्रवेश होगा, उस मार्ग को व्यवस्थित एवं आकर्षक बनाया जा रहा है।

मुनियों ने लिया व्यवस्थाओं का जायजा:
शासन मुनि सुमेरमल के निर्देशन में प्रवास कर रहे मुनि सुरेश कुमार, मुनि जयंत कुमार, मुनि संबोध कुमार, मुनि अनुशासन कुमार तथा मुनि सौरभ कुमार ने आचार्य महाश्रमण के प्रवास स्थल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वर्धमान महोत्सव व्यवस्था समिति के संयोजक डॉ. बसंतीलाल बाबेल, तेरापंथ सभा के कार्याध्यक्ष गणपतलाल चौधरी, सोहनलाल बाबेल, भैरूलाल बापना, महावीर चिपड़ आदि कार्यकर्ताओं ने मुनियों को तैयारियों के संदर्भ में जानकारी दी। मुनिजनों ने व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए आवश्यक मार्गदर्शन दिया।

सौंपी जिम्मेदारियां:
वर्धमान महोत्सव की तैयारियों के लिए आवास,भोजन, जल, बिजली, चिकित्सा, मीडिया आदि की समितियां गठित कर कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां सौंपी गई है।

तीन दिवसीय वर्धमान महोत्सव लावासरदारगढ़ में 11 से, देशभर से आएंगे साधु-साध्वियां, श्रद्धालु

Share this page on:

Source/Info

Jain Terapnth News

News in English: Sushil Bafana