18.05.2011 ►Last Journey Of Sadhvi Sumati Kumari

Posted: 18.05.2011
Updated on: 21.07.2015

News In English

Location:

Ladnun

Headline:

Last Journey Of Sadhvi Sumati Kumari

Content:

Sabha, Yuvak Parishad and Mahila Mandal took part in last journey. 78 year old Sadhvi Sumati Kumari was daughter of Tilok Chand Borad, Ladnun in worldly relation.

News in Hindi:

साध्वी सुमतिकुमारी का देवलोक गमन अंतिम यात्रा

साध्वी सुमतिकुमारी का देवलोक गमन

लाडनूं 18 मई 2011 (जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो)कस्बे के वृद्ध साध्वी सेवा केंद्र में रह रही 78 वर्षीया साध्वी सुमतिकुमारी का 16 मई को देवलोक गमन हो गया।साध्वी सुमतिकुमारी मूलत: लाडनूं निवासी त्रिलोकचंद बोरड़ की पुत्री थी। उन्होंने आचार्य तुलसी के सानिध्य में सरदारशहर में दीक्षा ग्रहण की थी। अपने दीक्षा काल में उन्होंने राजस्थान के अलावा विभिन्न प्रांतों में आचार्य तुलसी व आचार्य महाप्रज्ञ के निर्देशन में अहिंसा, शांति, अणुव्रत संदेश, प्रेक्षाध्यान, जीवन विज्ञान व जैन धर्म आदि विषयों पर काम किया तथा अनेक यात्राओं में उनके साथ रही। मंगलवार को उनके दर्शनों के बाद उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई। यात्रा में जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा, तेरापंथ कन्या मंडल, तेरापंथ युवक परिषद आदि संस्थाओं के प्रतिनिधियों व पालिका अध्यक्ष बच्छराज नाहटा ने भाग लिया। साध्वी का अंतिम संस्कार जोगीदड़ा श्मशान घाट पर किया गया। उन्हें मुखाग्नि उनके सांसारिक पक्ष के भतीजे निर्मल बोरड़ ने दी।

Share this page on: