28.04.2011 ►Depalsar (Churu) ►Respectful Vandan To Noble Thinker Acharya Mahaprajna ◄ Sadhvi Rajkumari

Posted: 28.04.2011
Updated on: 21.07.2015

News in English:

Location:

Depalsar (Churu)

Headline:

Respectful Vandan To Noble Thinker Acharya Mahaprajna ◄ Sadhvi Rajkumari

Content:

We can make his dream of world peace true by our action.

News in Hindi:

अभिनव चिंतन के महर्षि को किया वंदन - शासनश्री साध्वी राजकुमारी

जिले भर में श्रद्धापूर्वक मनाई तेरापंथ के 10वें आचार्य महाप्रज्ञ की प्रथम पुण्यतिथि

चूरू 29 अप्रेल २०११ (सवाददाता जैन  तेरापंथ समाचार)

जिले भर में जैन श्वेतांबर तेरापंथ के 10वें आचार्य महाप्रज्ञ की प्रथम पुण्यतिथि पर गुरुवार को हुए विभिन्न कार्यक्रमों में समाज के लोगों ने विचारों, गीतिकाओं और शब्दों के जरिए उनके प्रति श्रद्धाभाव व्यक्त किए।

 

जिला मुख्यालय पर समाज के लोगों ने गांव देपालसर में शासनश्री साध्वी राजकुमारी (लाडनूं) के सानिध्य में आचार्य महाप्रज्ञ की पुण्यतिथि मनाई। कार्यक्रम में शासनश्री साध्वी ने आचार्य महाप्रज्ञ द्वारा अणुव्रत, प्रेक्षाध्यान और जीवन विज्ञान के प्रति दिए गए योगदान को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि आचार्य महाप्रज्ञ अपनी उदारता, कोमलता और प्रियवादिता आदि विशेषताओं के चलते सभी धर्म और वर्ग में पूजनीय थे। उन्होंने समाज सहित उपस्थित ग्रामीणों से कहा कि आज वे हमारे बीच नहीं है, लेकिन उनके दिखाए मार्ग पर चलकर हम विश्व शांति के उनके सपने को सच कर सकते हैं। उन्होंने मायड़ भाषा में विचारों की अभिव्यक्ति देकर ग्रामीणों को अभिभूत कर दिया। इस अवसर पर साध्वी प्रज्ञावती, कीर्तिप्रभा व मयंकयशा ने विचार व्यक्त किए। कन्या मंडल और महिला मंडल ने भी शब्दों के जरिए आचार्य महाप्रज्ञ के प्रति भावना व्यक्त की। गांव के नंदलाल गोदारा ने सभी का आभार व्यक्त किया। संचालन शशि कोठारी ने किया। कार्यक्रम में चूरू से आए समाज के लोगों के अलावा ग्रामीण उपस्थित थे।

Share this page on: