01.09.2018 ►Mumbai ►Anuvrat Workshop in Presence of Sadhvi Anima Shree

Posted: 02.09.2018
Updated on: 03.09.2018

Mumbai: 01.09.2018

Anuvrat Sambodh Karyashala was held in presence of Sadhvi Anima Shree and Sadhvi Mangal Pragya. National president of Anuvrat Mahasamiti was present. Oath taking ceremony of newly elected president Ramesh Chowdhary of Anurag Samiti, Mumbai took place. Function was held at Mahapragya Public School, Kalbadevi, Mumbai.

Sadhvi Anima Shree told Mumbai has given dedicated functionary for Anuavrat Movement. Anuvrat Committe is progressing day by day. We need functionary who are devoted to work. She expressed her happiness that Ashok Sancheti too is present in today's function. Sadhvi Mangal Pragya told development and adopting new model is two faces of same coin. Anuvrat Movement gave new identity to Terapanth sect. Ashok Sancheti recalled brief history of Anuvrat and told he plans to give new turn to it. He told Anuvrat is boon which can solve most of problems. He also administered oath to Ramesh Chowdhary and his team. Ramesh Chowdhary welcomed all participants. Sadhvi Karnika Shree, Sadhvi Sudha Prabha, Sadhvi Maitri Prabha and Sadhvi Samatva Yasha presented song written by Sadhvi Anima Shree.
Kishanlal Dagalia, Dalchand Kothari, Lalita Jogad, Sushil Bafana, Ganpat Dagalia, Lokesh Dangi, Suresh Rathore,Nitesh Dhakad, Jayshree Badala, Hemlata Soni and many other dignitaries were present in the function and worked to make it successes. Chetan Kothari conducted function.

 

*अणुव्रत संबोध कार्यशाला एवं मुंबई समिति का शपथ विधि समारोह सम्पन्न*


मुम्बई।

1सितंबर, 2018


🔘अणुव्रत समिति, मुंबई की नवगठित कार्यसमिति का शपथ विधि समारोह साध्वीश्री अणिमाश्री जी एवं साध्वीश्री मंगलप्रज्ञा जी के सान्निध्य में महाप्रज्ञ पब्लिक स्कूल, कालबादेवी, मुंबई में आयोजित हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अणुव्रत महासमिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अशोक संचेती ने विधानानुसार शपथ विधि सम्पन्न करवाई। महासमिति के पूर्व अध्यक्ष श्री डालचंद कोठारी, वर्तमान संगठन मंत्री श्रीमती ललिता जोगड़ एवं प्रचार-प्रसार मंत्री श्री सुशील बाफना की गरिमामय उपस्थिति रही।

🔘अपने मार्मिक उद्बोधन में साध्वीश्री अणिमाश्री जी ने कहा आज का सुप्रभात अणुव्रत समिति, मुंबई के लिए प्रवर्द्धमानता का संकेत दे रहा है। मुंबई एवं परिपाश्ववर्ती क्षेत्रों के निष्ठावान कार्यकर्ता यहां आए हैं। लेकिन उससे भी महत्वपूर्ण बात तो यह है कि अणुव्रत महासमिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष का यहाँ आगमन हुआ है। साध्वीश्री ने प्रेरणा प्रदान करते हुए फरमाया कि कार्यकर्ता के लिए जरूरी है कि वह एकांगी दृष्टिकोण न रखे। वह बहिर्दृष्टि के साथ-साथ अंतरदृष्टि का भी विकास करे। कार्यकर्ता की सोच विधायक होनी चाहिए। समस्याओं के निर्मूलन हेतु समाधायक सोच जरूरी है। समाधायक सोच का विकास तभी हो सकता है, जब कार्यकर्ता नैतिक एवं चारित्रिक मूल्यों को जीवन में उतार लेता है। यदि इन मूल्यों को अपना लिया तो वह हिमालय से भी ऊंचा बन सकता है। 

🔘साध्वीश्री डॉ मंगलप्रज्ञा जी ने कहा विकास और परिवर्तन एक ही सिक्के के दो पहलू है। यदि चाहत विकास की है तो परिवर्तन को अपनाना पड़ेगा। विकास वहाँ होता है, जहां सोच लचीली एवं आग्रह मुक्त होती है।

🔘अणुव्रत महासमिति अध्यक्ष श्री अशोक संचेती ने कहा अणुव्रत आचार्य तुलसी द्वारा प्रदत्त एक वरदान है। यह एक ऐसी संजीवनी बूंटी है, जो हमे अनेक विपदाओं से बचा सकती है। अणुव्रत को इसलिए नही चलाना है कि यह 60-70 वर्षो से चल रहा है। अणुव्रत के कार्यो को गति इसलिए देनी है कि यह वर्तमान युग की अनेक जागतिक समस्याओं का समाधायक है। स्थानीय अणुव्रत समितियों का निर्माण औऱ संचालन केन्द्रीय विधान के अनुसार हो यह सुनिश्चित करना बहुत जरूरी है। सर्व समाज को अणुव्रत से जोड़ने के लिए अणुव्रत मैराथन दौड़ जैसे कार्यक्रम स्थान-स्थान पर होने चाहिएं। कार्यकर्ता केन्द्र द्वारा प्रदत्त प्रकल्पों का आयोजन करें।

🔘साध्वीश्री डॉ सुधाप्रभाजी ने कहा अणुव्रत समिति पूज्यप्रवर का आशीर्वाद और साध्वीश्री जी का मार्गदर्शन प्राप्त कर निरन्तर आगे बढ़े। साध्वीश्री कर्णिकाश्री जी, साध्वीश्री सुधाप्रभाजी, साध्वीश्री समत्वयशाजी, साध्वीश्री मैत्रीप्रभा जी ने साध्वीश्री अणिमाश्रीजी द्वारा रचित गीत का संगान किया। 

🔘अध्यक्ष श्री रमेश चौधरी ने स्वागत करते हुए समिति के भावी कार्यक्रमों की संक्षिप्त जानकारी दी। निवर्तमान अध्यक्ष गणपत डागलिया एवं कोषाध्यक्ष नितेश धाकड़ ने दायित्व हस्तांतरण की रस्म निभाई। महासमिति के पूर्व अध्यक्ष श्री डालचंद कोठारी ने अणुव्रत आचार संहिता का वाचन किया। महिला मंडल, दक्षिण मुम्बई की बहनो ने मंगल संगान किया। महासभा के पूर्व अध्यक्ष श्री किशनलाल डागलिया, अभातेयुप महामंत्री श्री सन्दीप कोठारी, अणुव्रत महासमिति के प्रिंट मीडिया विभाग प्रमुख अर्जुन मेडतवाल, बैंगलोर समिति अध्यक्ष श्री कन्हैयालाल चिपड़, वरिष्ठ उपासक सोहनलाल कोठारी, श्री रमेश धोका, कार्यकारी अध्यक्ष श्री रोशनलाल मेहता, उपाध्यक्ष श्री विनोद कोठारी, महिला मंडल, मुंबई अध्यक्षा श्रीमती जयश्री बड़ाला, मुंबई सभा कार्याध्यक्ष श्री मनोहर गोखरू, श्री प्रसन्न पामेचा, श्री रवि दोषी आदि ने मंगल भावों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का सफल संचालन अणुव्रत समिति मुंबई के मंत्री श्री चेतन कोठारी ने किया। श्री रमेश सोनी, श्रीमती कंचन सोनी, श्रीमती हेमलता सोनी, श्री पारस कच्छारा आदि की विशेष उपस्थिति रही।

Sadhvi Anima Shree and Sadhvi Mangal Pragya

Anuvrat Team

Oath Taking Ceremony

Audience

 Honour

Honour by Memento

Inauguration of Workshop

Share this page on: