27.11.2016 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Posted: 27.11.2016
Updated on: 05.01.2017

Update

#Khandargiri #Udaigiri Siddh Kshetra @ Odisha/Orrisa #JainismInOdisha

दशरथ राजा के सुत कहे, देश कलिंग पाँचसौ लहे, कोटशिला मुनि कोटि प्रमाण..

#AcharyaVardhmansagar

News in Hindi

#BavanGaja #84feetIdol ❖ विश्व की अद्वितीय प्रतिमा @ सिद्ध क्षत्र बावनगजा/चुलगिरी -भगवान् आदिनाथ जी 84 फीट! -इस सिद्ध क्षेत्र से रावण का भाई कुम्भकर्ण और रावण के पुत्र मेघनाद को यहां मोक्ष की प्राप्ति हुई थी। रावण की पटरानी मंदोदरी ने अस्सी हजार विद्याधारियों के साथ यहीं आर्यिका दीक्षा ग्रहण की थी। [ यहां एक मंदोदरी प्रासाद भी है। इस जैन मंदिर में जैन प्रतिमाएं हैं। कहा जाता है कि रावण की पटरानी मंदोदरी ने इस जगह में आकर तपस्या की थी। ] मध्यप्रदेश के बड़वानी शहर से 8 किमी दूर स्थित इस पवित्र स्थल में जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेवजी (आदिनाथ) की 84 फुट ऊँची उत्तुंग प्रतिमा है। सतपुड़ा की मनोरम पहाडि़यों में स्थित यह प्रतिमा भूरे रंग की है और एक ही पत्थर को तराशकर बनाई गई है। सैकड़ों वर्षों से यह दिव्य प्रतिमा अहिंसा और आपसी सद्भाव का संदेश देती आ रही है। ❖

Bawangaja/Choolgiri (meaning 52 yards is a famous Jain pilgrim center in the Barwani district of Madhya Pradesh in India. Its main a#ttraction is the megalithic statue (carved out of mountain) of Lord Adinatha, the first Jain Tirthankara. The statue is 84 feet (26 m) high, and was created early in the 12th century. The statue is supported from the back unlike the Gommateshwara statue of Lord Bahubali at Shravanabelagola, Karnataka. The great spiritual saint Acharya Kundkund Dev also meditate from choolgiri and have small temple on choolgiri.

--- www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse ---

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgranth #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #Rishabhdev #AcharyaVidyasagar #Ahinsa #Nonviolence #AcharyaShri

Share this page on: