18.09.2016 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Published: 18.09.2016
Updated: 05.01.2017

Update

#सुधासागरजी #ब्यावर उत्तम ब्रह्मचर्य के प्रवचनों से प्रभावित हो कर कई युवाओं ने लिया ब्रह्मचर्य व्रत

उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म के दिन पूज्य आचार्य विद्यासागर जी महाराज के परम आशीर्वाद से उनके चिर दीक्षित शिष्य पूज्य मुनि पुंगव सुधा सागर जी महाराज के सानिध्य में ब्यावर में आयोजित श्रावक संस्कार शिविर में क्षुल्लक श्री 105 गंभीर सागर जी महाराज द्वारा दिए गए प्रवचनों से प्रभावित हो कर कई युवाओं ने विवाह न करने तक ब्रह्मचर्य व्रत लिया। पूज्य क्षुल्लक श्री ने प्रवचनो में ब्रह्मचर्य की महिमा बतलाई एवं अब्रह्म से होने वाली हानि का वर्णन किया। *पूज्य श्री के प्रवचनो से प्रभावित हो कर कई शिविरार्थियों ने विवाह तक का ब्रह्मचर्य व्रत लिया। #Acharyashri #Vidyasagar #Sudhasagar #gambhirsagar #Jainism #Digambarsadhu

आचार्य श्री विद्यासागर जी के बड़े भाई श्री महावीर अष्टगे:) #AcharyaShri #Vidyasagar #Jainism #Jaindharma

गुलगावँ केकड़ी के मंदिर के भगवान पार्श्वनाथ:) #Parasnath #Parshwanatha #Jainism #Tirthankara #Arihant

News in Hindi

vyavar se live @ Jinvaani chanel!! 34th diksha divas celebration of SudhaSagar G!! watch now.. on your TV:) गुरूजी को 34वें संयम दीक्षा दिवस पर बारम्बार नमोस्त!!

आज वो पावन दिवस है जब पूज्य आचार्य भगवंत ने अपने पावन कर कमलो से जगत्पूज्य मुनिपुंगव श्री #सुधासागर जी ऋषिराज को मुनि दीक्षा प्रदान की थी ।

बंधुओ अपन सभी परम पूज्य आचार्य भगवंत के उपकार कभी जन्मों -जन्मांतरों तक नही भुला पाएंगे जो पूज्य आचार्य भगवन ने जैन समाज को एक ऐसा अनमोल रत्न दिया, जिन्होंने आज भारत के जैनियो को जैनत्व का ज्ञान दिया और जिनधर्म का पालन करना सिखलाया, युगों-युगों तक के लिए सेकड़ो प्राचीन जिनमंदिरो का जीर्णोद्धार कराया, समस्त जिनमंदिरो से वास्तु दोष को हटवाया,पूज्य आचार्य भगवंत की वाणी और महिमा को जन;जन तक पहुँचाया ऐसे जगत्पूज्य मुनिपुंगव श्री सुधासागर जी ऋषिराज के चरणों में बारम्बार नमोस्तु...!! धन्य है आज की तिथि, धन्य था वो समय जब पूज्य आचार्य भगवंत ने गुरुवर सुधासागर जी को दीक्षा प्रदान की ।

Sources
Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Acharya
  2. Acharya Vidya Sagar
  3. Arihant
  4. Diksha
  5. Jainism
  6. JinVaani
  7. Parshwanatha
  8. Sagar
  9. Sudhasagar
  10. Tirthankara
  11. Vidya
  12. Vidyasagar
  13. आचार्य
  14. ज्ञान
  15. महावीर
  16. सागर
Page statistics
This page has been viewed 875 times.
© 1997-2020 HereNow4U, Version 4
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

HN4U Deutsche Version
Today's Counter: