07.09.2014 ►Delhi Chaturmas

Published: 08.09.2014
Updated: 02.07.2015
2014.09.08 Delhi - Acharya Mahashraman 00

Delhi
07.09.2014

Pravachan of Acharya Mahashraman

Acharya Tulsi focused on value based education system. He has started activity of Jeevan Vigyan along with Anuvrata and Preksha Dhyan. Politeness should be increased with knowledge. Sanskar are also important. Mental and Emotional development is necessary with literacy.

Acharya Mahashraman was speaking in third part of Acharya Tulsi Birth Centenary function.


आज की प्रेरणा.....७ सितम्बर २०१४
प्रवचनकार - आचार्य महाश्रमण -
प्रस्तुति - अमृतवाणी....संप्रसारण -
श्रुत के अध्यापन को प्राप्त करने
वाला साधक ज्ञान की व सन्मार्ग
की प्राप्ति कर लेता है| मूल्यपरक शिक्षा के
उन्नायक आचार्य तुलसी ने अणुव्रत व
प्रेक्षा ध्यान के साथ ही साथ जीवन
विज्ञान का एक सूत्र भी प्रदान किया|
अक्षर ज्ञान के साथ भावात्मक, मेंटल व
इमोसनल क्षमता का भी विकास होना चाहिए
|ज्ञान के साथ संस्कार व विनय
भी आना चाहिए| अविनीत विपत्ति को व
सुविनीत सम्पत्ति को प्राप्त करता है |
अदमी में अच्छाई व बुराई दोनों के संस्कार
विद्यमान हैं| हम हिंसा से अहिंसा की ओर,
बुराई से अच्छाई की ओर व असत से सत
को ओर प्रस्थान करें| विद्यार्थी में ज्ञान के
साथ विनय व सम्यक पुरुषार्थ के संस्कार
आये | सम्यक पुरुषार्थ सफलता का मुख्य
बिंदु होता है | संस्कार सद हो ताकि वह गलत
रास्ते पर न जाए | आज सरकार व
जनता दोनों शिक्षा के प्रति जागरूक हैं, यह
अच्छी बात है लेकिन साथ में संस्कार निर्माण
भी हो| मूल्यपरक शिक्षा के क्षेत्र में
आचार्य तुलसी ने एक नई दिशा प्रदान की|
उनकी शताब्दी वर्ष के तृतीय चरण पर
उनको हमारा भाव भरा नमन |
दिनांक - ७. सितम्बर, २०१४



ASHOK PARAKH
9233423523

more:

15154307656

2014.09.07 Delhi - Acharya Mahashraman 01

14990749268

2014.09.07 Delhi - Acharya Mahashraman 02

14990683860

2014.09.07 Delhi - Acharya Mahashraman 03

14990762647

2014.09.07 Delhi - Acharya Mahashraman 04

Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Acharya
  2. Acharya Mahashraman
  3. Acharya Tulsi
  4. Acharya Tulsi Birth Centenary
  5. Anuvrata
  6. Ashok Parakh
  7. Delhi
  8. Dhyan
  9. Jeevan Vigyan
  10. Mahashraman
  11. Pravachan
  12. Preksha
  13. Preksha Dhyan
  14. Sanskar
  15. Tulsi
  16. अमृतवाणी
  17. आचार्य
  18. आचार्य तुलसी
  19. आचार्य महाश्रमण
  20. ज्ञान
  21. भाव
Page statistics
This page has been viewed 804 times.
© 1997-2020 HereNow4U, Version 4
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

HN4U Deutsche Version
Today's Counter: